Wednesday, 29 May 2019

Hanuman Jayanthi 2019, हनुमान जयंती

हनुमान जयंती 2019 हनुमान जयंती 29 मई 2019 को मनाया जा रहा है 29 मई को तेलुगु में हनुमान जयंती मनाई जाती है हनुमान भगवान श्री राम की बहुत ही बड़े भक्त हैं। 
Hanuman Jayanti 2019
Hanuman Jayanti 2019


हनुमान जयंती 2019


इस दिन भगवान बजरंगबली का जन्म हुआ था।हनुमान जयंती वैसे तो 19 अप्रैल को मनाई जाती है लेकिन दक्षिण भारत में हनुमान जयंती 41 दिन चलता है। वहीं आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में बुधवार को हनुमान जयंती का लास्ट दिन है।  ये पर्व चैत्र पूर्णिमा को शुरू होकर कृष्ण पक्ष के वैशाख महीने में समाप्‍त हो रहा है। इन इलाकों में रामभक्‍त भक्त हनुमान की जयंती बहुत ही धूम-धाम से मनाई जा रही है। दक्षिण भारत के लोग हनुमान जयंती बहुत ही धूमधाम से मनाते हैं 41 दिन तक।

तेलंगाना के Kondagattu Anjaneya Swamy मंदिर में पूजा-अर्चना की जा रही है. ये मंदिर आंजनेय स्वामी को समर्पित है। हनुमान जयंती तेलंगाना की कोंडागट्टू अंजनिया स्वामी मंदिर में किसकी पूजा की जाती है और बहुत ही अच्छे तरीके से इसकी पूजा की जाती है।

हनुमान जयंती 2019 में 19 अप्रैल को मनाई गई और दक्षिण भारत में 41 दिन जो कि बुधवार को समाप्त होने वाली है। पूरे भारत में दक्षिण भारत के लोग बजरंगबली की पूजा बहुत ही धूमधाम से करते हैं और उनका यह मानना है कि हमारे 41 दिन पूजा करने से हमारे सारे पाप खत्म हो जाएंगे। पूरे संसार में ऐसा कोई देवता नहीं है जिसकी पूजा लगातार 41 दिन तक चली हो चाहे कोई देवी हो या देवता लेकिन दक्षिण भारत में बजरंगबली की लगातार 41 दिन तक पूजा इनकी करते हैं।

बजरंगबली दक्षिण भारत की बहुत ही पसंदीदा भगवान है लक्ष्मी भारत के लोग इनकी पूजा-अर्चना में कोई कमी नहीं करते हैं और तन मन धन से इनकी पूजा करते हैं।


पूरे भारत में बजरंगबली को धरती का सबसे बड़ा देवता माना जाता है। कलयुग का क्योंकि कलयुग में बजरंगबली ही एक ऐसे देवता हैं जो लोगों की सहायता कर रहे हैं और धरती पर इस समय भी मौजूद हैं क्योंकि लंका में जब हनुमान जी लंका मैं माता सीता का पता लगाने गए थे, तो उस समय माता सीता ने बजरंगबली को अमर कर दिया था।

यही कारण है कि हमारे भारत के निवासी और लोग बजरंगबली की पूजा बड़ी धूम-धाम से करते हैं और हमारे देश के बहुत सारे लोग ऐसे भी हैं जो कि बजरंगबली के भक्त हैं। बजरंगबली का पूरा जीवन भगवान श्री राम के चरणों में अर्पित है।

हनुमान जयंती इस साल 19 अप्रैल को मनाया गया था लेकिन दक्षिण भारत में लोग इसको 41 दिन तक मनाते हैं और उनका अंतिम दिन बुधवार को है। बजरंगबली भगवान श्री राम के बहुत ही बड़े भक्त हैं। इन्होंने भगवान राम की बहुत ही सेवा की है और भगवान राम बजरंग बली को अपना सबसे बड़ा भक्त मानते भी हैं।

2019 में 19 अप्रैल को हनुमान जयंती मनाई गई और आपको बता दें कि हनुमान जयंती बजरंगबली के जन्मदिन पर मनाया जाता है इस दिन भगवान बजरंगबली का जन्म हुआ था। लोग हनुमान जयंती पर हनुमान चालीसा पढ़ते हैं और रामायण पढ़ते हैं जिससे बुरी शक्तियां आसानी से दूर हो सके।

हनुमान उर्फ बजरंगबली केसरी और अंजनी माता के पुत्र हैं और इनको वायु देवता काफी पुत्र माना जाता है। क्योंकि कई ग्रंथों के अनुसार बजरंगबली के जन्म के समय उनकी अहम भूमिका मानी गई है। इसलिए वायु देता के पुत्र है बजरंगबली।

हनुमान हनुमान जी के कुछ रूपों के बारे में आइए जानते हैं और उनका विस्तार से वर्णन करते हैं।

1. संकट मोचन हनुमान

संकट मोचन हनुमान का यह रूप बहुत ही सुंदर है । इस रूप में हनुमान एक हाथ में पहाड़ और दूसरे में गदा पकड़े नजर आते हैं।

2. विराट स्वरूप हनुमान

बजरंगबली जब अशोक वाटिका में जाते हैं  और माता सीता का विश्वास जीतने के लिए उन्होंने विराट रूप जो धारण किया था विराट स्वरूप बहुत ही अच्छा माना जाता है । रामायण में जब हनुमान सीता का विश्वास जीतना चाहते हैं, तो उनका ये रूप देखने को मिलता है।

3. दास मारुति

हनुमान का दास मारुति नाम  बड़ा ही भक्ति पूर्ण है ।          रामायण में हनुमान का ये रूप भगवान राम और सीता के सामने उनकी भक्‍त‍ि भावनाओं को दर्शाता है।

4. पंचमुखी हनुमान

हनुमान का ये रूप भक्तों की सभी कामनाओं को पूरा करता है. माना जाता है कि पंचमुखी हनुमान भक्तों को सफलता का आशीर्वाद देते हैं।

5. एकादास मुख हनुमान

सारे रूपों में से बजरंगबली का यह रूप बहुत ही अच्छा है  इसमें बजरंगबली का एक ही शरीर में 11 सिर दिखाए गए हैं । इस स्वरूप में बजरंगबली के 11 सिर दिखाए गए हैं।

6. नव खंड हनुमान 

बजरंगबली का एक रूप 9 खंड हनुमान का भी है।

7. रुद्र अवतार 

बजरंगबली को रूद्र अवतार भी कहा जाता है क्योंकि बजरंगबली रूद्र के अवतार हैं।


आइए जानते हैं बजरंगबली के 11 नाम


0 comments: